भव्यता में किसी से कम नहीं है, लोकतंत्र का नया मंदिर

देश का नया संसद भवन बनकर तैयार हो गया है. इसका शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 मई को करेंगे जिसके लिए आमंत्रण पत्र भी भेजे जा रहे हैं. नया संसद भवन कई अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है. त्रिकोण के आकर में बनाई गई नई संसद भवन की दिव्यता-भव्यता ने लोगों का दिल जीत लिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2020 में नई संसद की आधारशिला रखी थी. टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने नए संसद भवन का निर्माण किया है .इस भवन में भारत की लोकतांत्रिक विरासत को प्रदर्शित करने के लिए एक भव्य संविधान हॉल बनाया गया है.

अगर दोनों सदनों की संयुक्त बैठक होती है तो एक समय में इसमें 1,280 सांसद बैठ सकेंगे. मौजूदा संसद भवन में लोकसभा में 550 और राज्यसभा में 240 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था हैं .नए संसद भवन के तीन मेन गेट हैं. ज्ञान द्वार, शक्ति द्वार और कर्मा द्वार. वीआईपी, सांसदों और विजिटर्स की एंट्री अलग-अलग गेट से होगी.

तिकोने आकार में बना नया संसद भवन चार मंजिला है. ये पूरा कैम्पस 64,500 वर्ग मीटर के दायरे में फैला हुआ है. इसकी लागत 862 करोड़ रुपये है. 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन समारोह है. संसद भवन के उद्घाटन को लेकर सारी तैयारियां कर ली गई हैं.

140

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *