स्टूडेंट्स को 21वीं सदी के स्किल (Skills) के साथ आगे बढ़ाना है :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शुक्रवार यानी आज राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 (NEP) के तहत ‘21वीं सदी में स्कूली शिक्षा’ पर आयोजित एक सम्मेलन को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया| पीएम मोदी ने कहा कि हमें अपने स्टूडेंट्स को 21वीं सदी के स्किल (Skills) के साथ आगे बढ़ाना है| ये 21वीं की सदी के स्किल्स क्या होंगे? इसके बारे में बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, क्रिटिकल थिंकिंग, क्रिएटिविटी, कोलेबोरेशन, जिज्ञासा (Curiosity) और कम्युनिकेशन |”
पीएम मोदी ने कहा, “राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 (NEP) को इसी तरह तैयार किया गया है ताकि सिलेबस को कम किया जा सके और फंडामेंटल चीज़ों पर ध्यान केन्द्रित किया जा सके. लर्निंग को Integrated और Inter-Disciplinary, फन बेस्ड और कंप्लीट एक्सपीरियंस बनाने के लिए एक राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (National Curriculum Framework) का विकास किया जाएगा |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया, “कुछ दिन पहले शिक्षा मंत्रालय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के बारे में देश भर के शिक्षक से MyGov पर उनके सुझाव मांगे थे| एक सप्ताह के भीतर ही 15 लाख से ज्यादा सुझाव मिले हैं. ये सुझाव राष्ट्रीय शिक्षा नीति को और ज्यादा प्रभावी तरीके से लागू करने में मदद करेंगे| ”

उन्होंने कहा, “बच्चों में मैथेमेटिकल थिंकिंग और Scientific Temperament विकसित हो, ये बहुत आवश्यक है और मैथेमेटिकल थिंकिंग का मतलब केवल यही नहीं है कि बच्चे मैथेमेटिक्स के प्रॉब्लम ही सॉल्व करें, बल्कि ये सोचने का एक तरीका है| “

27

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *