मरकज से 2 हजार से ज्यादा लोग निकले, 617 अस्पताल में भर्ती

कोरोना के डर के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित तबलीगी जमात के मरकज का मामला लगातार गंभीर होता जा रहा है| मरकज को पूरी तरह अब खाली करा दिया गया है| मरकज से 2 हजार से ज्यादा लोग निकले हैं| मरकज से जिन लोगों को निकाला गया है, उसमें से 617 अस्पताल में भर्ती हैं, बाकी क्वारंटीन किए गए हैं| जमात से लौटे लोगों की तलाश में दिल्ली से मुंबई तक अभियान चलाया जा रहा है|

गृह मंत्रालय ने तबलीगी जमात से जुड़े ऐसे विदेशियों को वापस भेजने के निर्देश दिए हैं, जो पूरी तरह स्वस्थ हैं| पूरे देश में जमात से जुड़े 2 हजार विदेशी मौजूद हैं. आंध्र प्रदेश में मरकज जमात से जुड़े 30 जमातियों का टेस्ट किया गया, जिसमें से 14 पॉजिटिव पाए गए हैं. मरकज में गए 13 बांग्लादेशियों को ठाणे में पकड़ा गया है| सबको क्वारंटीन किया गया है|

अहमदाबाद में पुलिस पर पथराव

गुजरात के अहमदाबाद में भी जमात के मरकज से लौटे लोगों की तलाश की जा रही है. इस बीच गोमतीपुर इलाके में पुलिस पर पथराव किया गया है. बताया जा रहा है कि कसाई नी चाल इलाके में लोग विरोध करने लगे और पुलिस पर पथराव शुरू हो गया|
उत्तर प्रदेश में 117 लोग क्वारनटीन

शुरुआत उत्तर प्रदेश से सकते हैं| मरकज से लौटे लोगों की तलाश के लिए पुलिस ने आज भी सर्च ऑपरेशन चलाया| मऊ में 15 लोग पकड़े गए हैं. यह लोग जमात में शामिल होकर मऊ में अलग-अलग जगह ठहरे हुए थे. इनको आश्रय देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है. साथ ही सबको क्वारनटीन किया गया है| उत्तर प्रदेश में अब तक 8 जमातों में 117 लोगों को क्वारनटीन किया जा चुका है. साथ ही इनके संपर्क में आए लोगों को भी क्वारनटीन किया जा रहा है|

मध्य प्रदेश में 65 लोग क्वारनटीन

उत्तर प्रदेश की तरह मध्य प्रदेश से भी जमात के मरकज में 108 लोग गए थे. इसमें अकेले भोपाल से 36 जमाती गए थे| इन सभी को दिल्ली में क्वारनटीन किया गया है| इसके अलावा 5 से 14 मार्च के बीच धर्म के प्रचार के लिए भोपाल आए 63 विदेशियों समेत अलग-अलग राज्यों के 189 लोगों का सैंपल लिया गया है. इसमें 65 लोगों को क्वारनटीन किया गया है| इसके साथ मरकज से लौटे लोगों की तलाश की जा रही है|

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें

बिहार में जमातियों की तलाश तेज

बिहार से मरकज में 162 लोग शामिल हुई थे| इसमें 17 लोग पटना और 13 लोग बक्सर के हैं. सबको क्वारनटीन किया गया है और टेस्ट किया जा रहा है. इसके अलावा सरकार ने फैसला लिया है कि विदेश से आने वालों लोगों की दोबारा जांच होगी| दरअसल, जिन लोगों में लक्षण नहीं मिले थे, उनके भी रिजल्ट पॉजिटिव आए हैं| इसके बाद यह फैसला लिया गया है| इसके अलावा मरकज से लौटे लोगों की तलाश की जा रही है|
राजस्थान में लौटे लोगों की कराई जा रही है जांच
राजस्थान में भी मरकज से लौटे लोगों की तलाश के लिए अभियान चलाया जा रहा है| बाड़मेर में 12, सीकर में 9, करौली में 10, जैसलमेर में एक और अजमेर में दो लोग मरकज से लौटे हैं| सबको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. साथ ही इनके संपर्क में आए गए लोगों को भी क्वारनटीन किया गया है. किसी में भी सिम्टम्स नहीं मिले हैं, लेकिन सबकी जांच कराई जाएगी|
हरियाणा में 40 लोग क्वारनटीन
हरियाणा में तबलीगी जमात के मरकज से आए 40 लोगों को कवरटाइन किया गया है. इनमें से चार लोगों के सिम्टम्स के कारण उनको अंबाला के सिविल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है| बाकी बचे सभी लोगों की तलाश के लिए हरियाणा के डीसी और एसएसपी को निर्देश दे दिए गए हैं कि वह इनको युद्धस्तर ढूंढे और इनसे जुड़े हुए लोगों को तुरंत क्वारनटीन किया जाए |
कई राज्यों में चलाया जा रहा अभियान
इसके अलावा महाराष्ट्र में अलग-अलग जगहों पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है| कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में भी जमात से लौटे लोगों की तलाश की जा रही है| तमिलनाडु में तो 500 अधिक लोगों की शिनाख्त कर ली गई है, जिसमें से 50 कोरोना पॉजिटिव भी मिले हैं |

67

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *